banner goes here

Browse By

Your Ad Here
banner goes here

Category Archives: टोटके

No Thumbnail

धन हानि पर नियंत्रण पाने का अचूक व प्रबल उपाय

धन हानि (Money loss) 1.   यदि किसी व्यक्ति के घर में बार – बार धन की हानि हो रही हैं. तो उस व्यक्ति को धन की हानि होने से रोकने के लिए वीरवार के दिन इस उपाय को करना चाहिए. धन की हानि को रोकने

No Thumbnail

फेंगशुई के इस बेहतरीन उपाय से पाये व्यापार एवं व्यवसाय में अति शीघ्र सफलता

फेंगशुई के इस बेहतरीन उपाय से पाये व्यापार एवं व्यवसाय में अति शीघ्र सफलता जीवन में सफलता और तरक्की तो हर कोई पाना चाहता है। इसके लिए आप मेहनत करते ही है। कई कितनी भी मेहनत कर लो सफलता नहीं मिल पाती। अगर आपको भी

No Thumbnail

इस रुद्राक्ष को धारण करने से होते है अनेको फायदे अवश्य धारण करें

पारद रुद्राक्ष पारद रुद्राक्ष…..पारद भगवान भोलेनाथ के शरीर से उत्पन्न श्रेष्ठतम वीर्य रस है | रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आँखों के जलबिंदु से हुई है। एवं रुद्राक्ष का स्पदंन व्यक्ति के शरीर के चारो तरफ ऊर्जा का एक सुरक्षा कवच बना देता है।

No Thumbnail

सिर्फ फैशन का टशन नहीं है अष्टधातु का कड़ा पहनने से पहले जाने ये आवश्यक बाते

पारद धातु का कड़ा हाथ में कड़ा पहनने का चलन बहुत पहले से है। सिख धर्म में कड़े को धारण करना आवश्यक माना गया है। अधिकांश व्यक्ति चांदी,सोना,लोहा या अष्टधातु का कड़ा पहनते है। दरअसल कड़ा सिर्फ फैशन का टशन नहीं है। रत्न-धातुओं के जानकार

No Thumbnail

यदि कोई व्यक्ति कई वर्षो से आपका ऋण वापस नहीं कर रहा तो कपूर से करे यह रामवाण उपाय

यदि कोई जातक ऋण वापस नहीं कर रहा है तो कपूर  के सूखे काजल से व्यक्ति का नाम भोजपत्र पर लिख कर किसी भारी वस्तु से दबा दें। इस साधना के परिणाम स्वरूप जातक स्वतः ही धन लौटा देता है। इस उपाय का प्रभाव आने

No Thumbnail

वसंत पंचमी के दिन करें यह उपाय धन वर्षा होने से कोई नही रोक सकता

शास्त्रों में वर्णित है कि वसंत पंचमी के दिन ही शिव जी ने मां पार्वती को धन और सम्पन्नता की अधिष्ठात्री देवी होने का वरदान दिया था। उनके इस वरदान से मां पार्वती का स्वरूप नीले रंग का हो गया और वे नील सरस्वती’ कहलाईं। 

No Thumbnail

सभी प्रकार की पीड़ा से मुक्ति दिलाने वाला और धन और यश की प्राप्ति के लिए एक उत्तम और अमोघ उपाय

रामायण में भगवान श्री राम जी के साथ तो महाभारत में अर्जुन के रथ के ऊपर विराजमान, भगवान हनुमान जी अपने होने का प्रमाण खुद देते हैं। ‘नासे रोग हरे सब पीरा। जो सुमिरे हनुमंत बलबीरा।।‘ हनुमान चालीसा की यह चौपाई बताती है कि बजरंग