banner goes here

Browse By

Your Ad Here
banner goes here
No Thumbnail

।। श्री कनकधारा स्तोत्रम् ।।

।। श्री कनकधारा स्तोत्रम् ।। अंगहरे पुलकभूषण माश्रयन्ती भृगांगनैव मुकुलाभरणं तमालम।अंगीकृताखिल विभूतिरपांगलीला मांगल्यदास्तु मम मंगलदेवताया:।।1।। मुग्ध्या मुहुर्विदधती वदनै मुरारै: प्रेमत्रपाप्रणिहितानि गतागतानि।माला दृशोर्मधुकर विमहोत्पले या सा मै श्रियं दिशतु सागर सम्भवाया:।।2।। विश्वामरेन्द्रपदविभ्रमदानदक्षमानन्द हेतु रधिकं मधुविद्विषोपि।ईषन्निषीदतु मयि क्षणमीक्षणार्द्धमिन्दोवरोदर सहोदरमिन्दिराय:।।3।। आमीलिताक्षमधिगम्य मुदा मुकुन्दमानन्दकन्दम निमेषमनंगतन्त्रम्।आकेकर स्थित कनी निकपक्ष्म नेत्रं

No Thumbnail

अपने सवालों के जवाब जानने के ज्योतिष गड़नाओ पर आधारित कुछ रोचक उपाय चोरी हुआ सामान वापस मिलेगा या नहीं

अपने सवालों के जवाब जानने के  ज्योतिष गड़नाओ पर आधारित   कुछ रोचक उपाय  चोरी हुआ सामान वापस मिलेगा या नहीं

No Thumbnail

हमारे ब्लॉग में आप सभी का स्वागत है ।

                                    श्री गणेशाय नमः  नमस्कार दोस्तोंहमारे ब्लॉग में आप सभी का स्वागत है । यह ब्लॉग ज्योतिष  सम्बन्धी सामान्य व रोचक जानकारी उपलब्ध करने हेतु एक प्रयास है ।