Browse By

Category Archives: मन्त्र

परिवार की महिलाओं में यदि हो क्लेश अथवा आपस में शत्रुता तो आप रविवार को करे यह प्रयोग

किसी भी परिवार की महिलाओं में यदि अधिक क्लेश रहता हो अथवा आपस में शत्रुता हो तो आप रविवार को किसी मिट्टी के पात्र में रख कर उस पर कबूतर की सूखी बीट को रख कर उसका धुआँ सारे कमरों में कर दें।  प्रात: स्नान

रोजगार प्राप्ति के लिये रविवार को करें यह सरल उपाय

प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन तुलसी के पौधे में दूध अर्पित करने से आर्थिक स्थित सुदृढ़ होती है   धनलाभ के लिए भोजन से पूर्व करें यह सरल उपाय  : –  आर्थिक समस्याओं से निवृत्ति हेतु भोजन करते समय सर्वप्रथम गाय , कुत्ते और कोए के

अपार धन संपदा पाने के लिए करें यह उपाय

महा-लक्ष्मी मानस-पूजन ॐ लं पृथ्वी तत्त्वात्वकं गन्धं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये समर्पयामि नमः।     ॐ हं आकाश तत्त्वात्वकं पुष्पं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये समर्पयामि नमः।     ॐ यं वायु तत्त्वात्वकं धूपं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये घ्रापयामि नमः।     ॐ रं अग्नि तत्त्वात्वकं दीपं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये दर्शयामि नमः।  

जन्माष्टमी के दिन आर्थिक संकट , ऐश्वर्य प्राप्ति , सुख – समृद्धि , क़र्ज़ का बोझ , लक्ष्मी कृपा , अर्थात सभी समस्याओं का समाधान पाये इस प्रयोग से

1. यदि आपकी आमदनी में कोई इज़ाफा नही हो रहा हो और नौकरी में प्रमोशन भी नहीं हो रहा हो तो जन्माष्टमी के दिन सात कन्याओं को घर बुलाकर खीर खिलाएं। यह काम पांच शुक्रवार तक लगातार करें।     2. आर्थिक संकट के निवारण

जाने क्या होता है सगुन अपसगुन और कैसे करे अपशगुन को सगुन

  शकुन को प्रायः सभी मानते हैं। वे लोग भी जो इसे एक भ्रान्ति समझते हैं। और वे लोग भी जो इसके अस्तित्व को ही नकारते हैं , चाहे ऊपरी मन से शकुन को स्वीकार भले ही न करें। आन्तरिक रूप से तो उसका अस्तित्व

नवरात्रि के दूसरे दिनों में करे ये अचूक उपाय

नवरात्र के द्वितीय दिवस पर एक स्टील के प्लेट मे कुमकुम से स्वस्तिक बनाये और उस प्लेट मे अनार का शुद्ध रस भर दीजिये और वह प्लेट माँ के चरनो मे रखिये साथ मे आरोग्य प्राप्ति की कामना करे     आप चाहे तो किसी

No Thumbnail

भगवान गणेश का वशीकरण सुप्रसिद्ध मंत्र है

भगवान गणेश भी रूप सौन्दर्य के साथ आकर्षण शक्ति बढ़ाने वाले देवता हैं। उनका वशीकरण का सुप्रसिद्ध मंत्र है-  ।।ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरदं सर्व जनं मे वशमानाय स्वाहा।। इसका जप किसी शुभ मुहुर्त से आरम्भ करना चाहिए।  गणेश चतुर्थी  सर्वश्रेष्ठ

विभिन्न समस्याएं और कष्ट हो तो स्वयं देखें की कहीं आपकी कुंडली में चांडाल योग तो नहीं – अवश्य पढें और करें निदान

” चांडाल ” शब्द का अर्थ होता है। क्रूर कर्म करने वाला , नीच कर्म करने वाला राहू और केतु दोनों छाया ग्रह है। पुराणों में यह राक्षस है। पौराणिक मान्यता के अनुसार राहू और केतु के लिए राहू राक्षस का मस्तक है। तो केतु उसका

स्मरण – शक्ति बढ़ाने के लिये करें तुलसी का यह रामबाण उपाय

  स्मरण – शक्ति बढ़ाने के लिये – प्रातःकाल स्नान आदि से निवृत्त होकर तुलसी के पौधे को जल चढ़ायें और उसे प्रणाम करके निम्नलिखित मन्त्र का पाँच बार पाठ करें।       ॐ नमो देवी कामाख्या , त्रिशूल खडक हस्त पधां       

जानिए कौन सा रुद्राक्ष बदल सकता है आपकी किस्मत – राशि , व्यवसाय और ग्रह दशा से रुद्राक्ष निर्धारण

  1 –     राशि ( चन्द्र राशि  )के अनुसार –   राशि                         रुद्राक्ष                                             

लक्ष्मीजी की पूर्ण कृपा प्राप्त करने के लिए करें ‘ श्रीफल ‘ का यह चमत्कारिक उपाय

किसी शुभ दिन ‘ श्रीफल ‘ ले आयें और इसे धो – पोंछकर , लाल रंग के कपड़े में लपेटकर पवित्र स्थान ( पूजाघर ) में रख दें। फिर इस पर – सिंदूर , कपूर , लौंग , छोटी इलायची आदि चढ़ायें। इस पर कोई

आमदनी बढ़ाने के अचूक व जबरदस्त तरीके

 आमदनी (इनकम) बढ़ाने के आसान उपाय  Income Badhane Ke Upay: कई बार ऐसा होता है कि भरपूर मेहनत करने के बाद भी पर्याप्त आमदनी नहीं हो पाती है या फिर आय का कोई निश्चित व नियमित स्त्रोत नहीं मिल पाता है। ज्योतिष शास्त्र में कई

यदि आप राहु केतु और शनि को प्रसन्न करना चाहते है तो करें यह प्रमुख उपाय

शनि को प्रसन्न करने के लिए बताए गए खास उपायों में से एक उपाय है- किसी कुत्ते को तेल चुपड़ी हुई रोटी खिलाना। अधिकतर लोग प्रतिदिन कुत्ते को रोटी तो खिलाते ही हैं ऐसे में यदि रोटी पर तेल लगाकर कुत्ते को खिलाई जाए तो

राहु और केतु के दोषो के निवारण हेतु करे यह प्रबल व चमत्कारी उपाय

अक्सर लोग राहु या केतु से डरे रहते हैं। राहु और केतु के कारण ही कालसर्प दोष निर्मित होता है। पुराणों अनुसार पितृदोष या प्रारब्ध के कारण कालसर्प योग बनता है। कालसर्प योग भी मुख्यत: 12 तरह के माने गए हैं। बहुत से लोग कालसर्प

धन हानि पर नियंत्रण पाने का अचूक व प्रबल उपाय

धन हानि (Money loss) 1.   यदि किसी व्यक्ति के घर में बार – बार धन की हानि हो रही हैं. तो उस व्यक्ति को धन की हानि होने से रोकने के लिए रवीवार के दिन इस उपाय को करना चाहिए. धन की हानि को रोकने