Browse By

Monthly Archives: December 2017

आमदनी बढ़ाने के अचूक व जबरदस्त तरीके

 आमदनी (इनकम) बढ़ाने के आसान उपाय  Income Badhane Ke Upay: कई बार ऐसा होता है कि भरपूर मेहनत करने के बाद भी पर्याप्त आमदनी नहीं हो पाती है या फिर आय का कोई निश्चित व नियमित स्त्रोत नहीं मिल पाता है। ज्योतिष शास्त्र में कई

धन प्राप्ति या लक्ष्मी प्राप्ति अचूक व जबरदस्त टोटके

धन प्राप्ति के उपाय जानने की इच्छा हर व्यक्ति रखता है। क्योंकि धन का महत्व हर युग और काल खंड में रहा है। बात चाहे पौराणिक काल की रही हो या फिर आधुनिक युग की, धन ने अपना महत्व शुरू से ही सबके जीवन में

व्यापार में वृद्धिके आसान व बेहतरीन टोटके जिनको करके बन सकते हैं आप मालामाल

क्या आप भी करना चाहते हैं व्यापार वृद्धि के उपाय? तो पढ़ें हमारा यह लेख। स्टार्ट अप के इस युग में आज देश का हर युवा अपने पैरों पर खड़े होने के लिए अपना व्यापार करने की सोचता है। परंतु व्यापार में तरक्की होगी या

ग्रहों के अरिष्ट एवं वास्तु दोष निवारण हेतु करें यह सर्वविध कल्याणका‍री उपाय

  जिस स्थान पर भवन, घर का निर्माण करना हो, यदि वहां पर बछड़े वाली गाय को लाकर बांधा जाए तो वहां संभावित वास्तु दोषों का स्वत: निवारण हो जाता है, कार्य निर्विघ्न पूरा होता है और समापन तक आर्थिक बाधाएं नहीं आतीं। गाय के

यदि आप राहु केतु और शनि को प्रसन्न करना चाहते है तो करें यह प्रमुख उपाय

शनि को प्रसन्न करने के लिए बताए गए खास उपायों में से एक उपाय है- किसी कुत्ते को तेल चुपड़ी हुई रोटी खिलाना। अधिकतर लोग प्रतिदिन कुत्ते को रोटी तो खिलाते ही हैं ऐसे में यदि रोटी पर तेल लगाकर कुत्ते को खिलाई जाए तो

राहु और केतु के दोषो के निवारण हेतु करे यह प्रबल व चमत्कारी उपाय

अक्सर लोग राहु या केतु से डरे रहते हैं। राहु और केतु के कारण ही कालसर्प दोष निर्मित होता है। पुराणों अनुसार पितृदोष या प्रारब्ध के कारण कालसर्प योग बनता है। कालसर्प योग भी मुख्यत: 12 तरह के माने गए हैं। बहुत से लोग कालसर्प

जानिए हस्त रेखा से की आप को सरकारी नौकरी मिलेगी या नहीं, और करे यहअति तीव्र असरकारक उपाय

आज के समय में अधिकांश युवा सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि सरकारी नौकरी में भविष्य सुरक्षित रहता है और उन्नति के भरपूर अवसर भी मिलते हैं। सरकारी नौकरी के लिए काफी लोग कोशिश करते हैं, लेकिन कुछ लोगों का

शनि की साढ़ेसाती से बचने के अति प्रबल उपाय

शनि साढ़ेसाती शनि की साढ़ेसाती मे महिला या पुरुष को मानसिक तनाव क्लेश हो जाना बने हुए काम बिघड़ जाना बुद्धि मे विकार आ जाना. बच्चो के बारे मे परेशानी होना. ऐसे कई प्रकार से विघ्न साड़ेसाती की वजह से आती है. \ भगवान शनि

सरकारी नौकरी प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता करे ये बेहतरीन उपाय

आज के समय में हर युवा की इच्छा और कोशिश यही रहती हैं कि वह जल्द से – जल्द अपनी पढाई को पूर्ण करने के बाद एक सरकारी नौकरी प्राप्त कर लें. लेकिन आज के समय में सरकारी ही नहीं निजी क्षेत्रों में भी एक

धन हानि पर नियंत्रण पाने का अचूक व प्रबल उपाय

धन हानि (Money loss) 1.   यदि किसी व्यक्ति के घर में बार – बार धन की हानि हो रही हैं. तो उस व्यक्ति को धन की हानि होने से रोकने के लिए रवीवार के दिन इस उपाय को करना चाहिए. धन की हानि को रोकने

यदि आपके बच्चे का मन पढ़ाई में या फिर किसी भी कार्य में एकाग्रचित नहीं हो पा रहा तो करे यहअति शीघ्र असरकारक उपाय

बच्चों का मन बहुत चंचल होता है। अगर बच्चों का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा है या फिर किसी भी कार्य में वे एकाग्रचित नहीं हो पा रहे हैं तो फेंगशुई में बताए गए कुछ आसान से उपाय आजमा सकते हैं। इन उपायों से

बच्चो का दिमाग तेज करने का बेहतरीन व अति सरल उपाय

विघ्नहर्ता भगवान गणेश जी बुद्धि के देवता हैं। बुद्धि से सही समय पर सही निर्णय लेकर जीवन की बड़ी-बड़ी परेशानी का हल निकाल कर बुरा समय को भी अच्छा समय मे बदला जा सकता है। गणेश रुद्राक्ष भगवान गणपति जी का रूप है, इस धारण

फेंगशुई के इस बेहतरीन उपाय से पाये व्यापार एवं व्यवसाय में अति शीघ्र सफलता

    जीवन में सफलता और तरक्की तो हर कोई पाना चाहता है। इसके लिए आप मेहनत करते ही है। कई कितनी भी मेहनत कर लो सफलता नहीं मिल पाती। अगर आपको भी तरक्की नहीं मिल पा रही है तो फेंगशुई के इस आसान उपाय

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये करें बिच्छू बूटी की जड़ का ये अचूक प्रयोग

 बिच्छू बूटी   ​ शनिदेव को प्रसन्न करने के लोग आमतौर पर नीलम, नीली या घोड़े की नाल का छल्ला धारण करते हैं लेकिन अनुकूल बैठने वाला उत्तम रत्न नीलम बहुत कम ही मिलता है । इसके साथ ही उसके भले -बुरे की परीक्षा भी

इस रुद्राक्ष को धारण करने से होते है अनेको फायदे अवश्य धारण करें

पारद रुद्राक्ष     पारद भगवान भोलेनाथ के शरीर से उत्पन्न श्रेष्ठतम वीर्य रस है | रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आँखों के जलबिंदु से हुई है। एवं रुद्राक्ष का स्पदंन व्यक्ति के शरीर के चारो तरफ ऊर्जा का एक सुरक्षा कवच बना देता