Browse By

जानिए हस्त रेखा से की आप को सरकारी नौकरी मिलेगी या नहीं, और करे यहअति तीव्र असरकारक उपाय

आज के समय में अधिकांश युवा सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि सरकारी नौकरी में भविष्य सुरक्षित रहता है और उन्नति के भरपूर अवसर भी मिलते हैं। सरकारी नौकरी के लिए काफी लोग कोशिश करते हैं, लेकिन कुछ लोगों का

शनि की साढ़ेसाती से बचने के अति प्रबल उपाय

शनि साढ़ेसाती शनि की साढ़ेसाती मे महिला या पुरुष को मानसिक तनाव क्लेश हो जाना बने हुए काम बिघड़ जाना बुद्धि मे विकार आ जाना. बच्चो के बारे मे परेशानी होना. ऐसे कई प्रकार से विघ्न साड़ेसाती की वजह से आती है. \ भगवान शनि

सरकारी नौकरी प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता करे ये बेहतरीन उपाय

आज के समय में हर युवा की इच्छा और कोशिश यही रहती हैं कि वह जल्द से – जल्द अपनी पढाई को पूर्ण करने के बाद एक सरकारी नौकरी प्राप्त कर लें. लेकिन आज के समय में सरकारी ही नहीं निजी क्षेत्रों में भी एक

धन हानि पर नियंत्रण पाने का अचूक व प्रबल उपाय

धन हानि (Money loss) 1.   यदि किसी व्यक्ति के घर में बार – बार धन की हानि हो रही हैं. तो उस व्यक्ति को धन की हानि होने से रोकने के लिए रवीवार के दिन इस उपाय को करना चाहिए. धन की हानि को रोकने

यदि आपके बच्चे का मन पढ़ाई में या फिर किसी भी कार्य में एकाग्रचित नहीं हो पा रहा तो करे यहअति शीघ्र असरकारक उपाय

बच्चों का मन बहुत चंचल होता है। अगर बच्चों का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा है या फिर किसी भी कार्य में वे एकाग्रचित नहीं हो पा रहे हैं तो फेंगशुई में बताए गए कुछ आसान से उपाय आजमा सकते हैं। इन उपायों से

बच्चो का दिमाग तेज करने का बेहतरीन व अति सरल उपाय

विघ्नहर्ता भगवान गणेश जी बुद्धि के देवता हैं। बुद्धि से सही समय पर सही निर्णय लेकर जीवन की बड़ी-बड़ी परेशानी का हल निकाल कर बुरा समय को भी अच्छा समय मे बदला जा सकता है। गणेश रुद्राक्ष भगवान गणपति जी का रूप है, इस धारण

फेंगशुई के इस बेहतरीन उपाय से पाये व्यापार एवं व्यवसाय में अति शीघ्र सफलता

    जीवन में सफलता और तरक्की तो हर कोई पाना चाहता है। इसके लिए आप मेहनत करते ही है। कई कितनी भी मेहनत कर लो सफलता नहीं मिल पाती। अगर आपको भी तरक्की नहीं मिल पा रही है तो फेंगशुई के इस आसान उपाय

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिये करें बिच्छू बूटी की जड़ का ये अचूक प्रयोग

 बिच्छू बूटी   ​ शनिदेव को प्रसन्न करने के लोग आमतौर पर नीलम, नीली या घोड़े की नाल का छल्ला धारण करते हैं लेकिन अनुकूल बैठने वाला उत्तम रत्न नीलम बहुत कम ही मिलता है । इसके साथ ही उसके भले -बुरे की परीक्षा भी

इस रुद्राक्ष को धारण करने से होते है अनेको फायदे अवश्य धारण करें

पारद रुद्राक्ष     पारद भगवान भोलेनाथ के शरीर से उत्पन्न श्रेष्ठतम वीर्य रस है | रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आँखों के जलबिंदु से हुई है। एवं रुद्राक्ष का स्पदंन व्यक्ति के शरीर के चारो तरफ ऊर्जा का एक सुरक्षा कवच बना देता

सिर्फ फैशन का टशन नहीं है अष्टधातु का कड़ा पहनने से पहले जाने ये आवश्यक बाते

अष्टधातु का कड़ा     हाथ में कड़ा पहनने का चलन बहुत पहले से है। सिख धर्म में कड़े को धारण करना आवश्यक माना गया है। अधिकांश व्यक्ति चांदी,सोना,लोहा या अष्टधातु का कड़ा पहनते है। दरअसल कड़ा सिर्फ फैशन का टशन नहीं है। रत्न-धातुओं के

बिना कुंडली के ही पाये सभी समस्याओ के समाधान

आपका बुरा समय चल रहा हो तो आपको किसी विद्वान ज्योतिषी की सहायता लेनी पड़ेगी | कुछ लोगों की जन्म कुंडली या जन्म विवरण सही नहीं होता । ऐसी दशा में कैसे पता लगाया जाए कि आप पर किस ग्रह का प्रभाव चल रहा है

यदि आप शनि के प्रकोप से बचना चाहते है तो करे ये अदभुत उपाय

शनिवार को एक कांसे की कटोरी में सरसों का तेल और सिक्का (रुपया-पैसा) डालकर उसमें अपनी परछाई देखें और तेल मांगने वाले को दे दें या किसी शनि मंदिर में शनिवार के दिन कटोरी सहित तेल रखकर आ जाएं। यह उपाय आप कम से कम

यदि कोई व्यक्ति कई वर्षो से आपका ऋण वापस नहीं कर रहा तो कपूर से करे यह रामवाण उपाय

यदि कोई जातक ऋण वापस नहीं कर रहा है तो कपूर के सूखे काजल से व्यक्ति का नाम भोजपत्र पर लिख कर किसी भारी वस्तु से दबा दें। इस साधना के परिणाम स्वरूप जातक स्वतः ही धन लौटा देता है। इस उपाय का प्रभाव आने

वसंत पंचमी के दिन करें यह उपाय धन वर्षा होने से कोई नही रोक सकता

शास्त्रों में वर्णित है कि वसंत पंचमी के दिन ही शिव जी ने मां पार्वती को धन और सम्पन्नता की अधिष्ठात्री देवी होने का वरदान दिया था। उनके इस वरदान से मां पार्वती का स्वरूप नीले रंग का हो गया और वे नील सरस्वती’ कहलाईं।

यदि आप घर, समाज या ऑफिस जैसी जगहों पर लोगों को आकर्षित करना चाहते हैं तो करें ये वशीकरण

1. सबसे पहला उपाय यह है कि आप सफेद आंकड़े (अकवन) को छाया में सुखा लें। इसके बाद उसे कपिला गाय यानी सफेद गाय के दूध में मिलाकर उसे पीस लें फिर उसका तिलक लगाएं। ऐसा करने वाले व्यक्ति का समाज में वर्चस्व स्थापित हो