Browse By

कैसे बनाएं अपने आभा मंडल को इतना चमकदार की कोई भी आपसे आकर्षित हुए बिना रह न पाए – आभा मंडल के बारे में विशेष रोचक जानकारी

क्या होता है – आभा मंडल  – आभा का मतलब होता है। प्रकाश प्रत्येक व्यक्ति के चारों ओर के विशेष प्रकार का प्रकाश होता है। इसे ही उस व्यक्ति का “ आभा मंडल “ कहते हैं। यह प्रकाश व्यक्ति के मनोभावों से उत्पन्न तरंगों से

जानिए सुहागरात में क्यों नवविवाहित जोड़ों को दिया जाता है चबाने के लिए पान – यह हो सकती है आपके काम की जानकारी

पान से सभी परिचित हैं कई लोगों को पान चबाने का शौक होता है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं की पान में कामेच्छा बढ़ाने की जबरदस्त ताकत होती हैं। इसलिए जो लोग सेक्स एंज्वॉय करना चाहते हैं, उन्हें पान जरूर चबाना चाहिए। यही वजह है

क्या आपके धन का अपव्यय वाद – विवाद तथा दुर्घटना आदि के कारण हो रहा है – यह उपाय बचाता है धन अपव्यय

क्या आपकी कमाई का पैसा रोग में खर्च हो रहा है। यदि वाद – विवाद तथा दुर्घटना आदि के कारण धन का अपव्यय हो तो चमकीले लाल वस्त्र तथा लाल मसूर का उपयोग न करें। या कम से कम करें। जल्द ही लाभ अवश्य मिलेगा।  

सभी मनोरथों की पूर्ति करके चेहरे पर ओज देता है यह सिद्ध उपाय

मंगलवार के दिन आप स्नान आदि से निवृत्त हो लें। फिर किसी मन्दिर में या अपने घर में स्थित हनुमान जी की प्रतिमा के समक्ष जायें। फिर सिंदूर को शुद्ध देशी घी में मिलाकर उस प्रतिमा पर चढायें  ( लगायें )।   फिर हनुमान जी

अपार धन संपदा पाने के लिए करें यह उपाय

महा-लक्ष्मी मानस-पूजन ॐ लं पृथ्वी तत्त्वात्वकं गन्धं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये समर्पयामि नमः।     ॐ हं आकाश तत्त्वात्वकं पुष्पं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये समर्पयामि नमः।     ॐ यं वायु तत्त्वात्वकं धूपं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये घ्रापयामि नमः।     ॐ रं अग्नि तत्त्वात्वकं दीपं श्री महा-लक्ष्मी-प्रीतये दर्शयामि नमः।  

जन्माष्टमी के दिन आर्थिक संकट , ऐश्वर्य प्राप्ति , सुख – समृद्धि , क़र्ज़ का बोझ , लक्ष्मी कृपा , अर्थात सभी समस्याओं का समाधान पाये इस प्रयोग से

1. यदि आपकी आमदनी में कोई इज़ाफा नही हो रहा हो और नौकरी में प्रमोशन भी नहीं हो रहा हो तो जन्माष्टमी के दिन सात कन्याओं को घर बुलाकर खीर खिलाएं। यह काम पांच शुक्रवार तक लगातार करें।     2. आर्थिक संकट के निवारण

घर में सुख शांति और लक्ष्मी के स्थाई निवास के लिए गुरूवार को प्रातः काल अवश्य करें यह उपाय

गुरूवार के दिन नित्य पूजन के बाद हल्दी को जल में घोलकर एक पान के पत्ते की सहायता से अपने सम्पूर्ण घर में छिडकाव करें l इससे घर में लक्ष्मी का वास तथा शांति भी बनी रहती हैl  

व्यापार में उन्नति के लिए करें यह प्रयोग

शनिवार की संध्या को हाथ में इक साबुत सुपारी व ताँबे का सिक्का ले जाकर उस पेड़ को आमंत्रित कर आवें , जिस पेड़ पर चमगादड़ों का आवास हो। रविवार को सूर्योदय से पूर्व उस पेड़ की एक शाखा लाकर उसका एक टुकड़ा व्यापारिक आसन

जाने क्या होता है सगुन अपसगुन और कैसे करे अपशगुन को सगुन

  शकुन को प्रायः सभी मानते हैं। वे लोग भी जो इसे एक भ्रान्ति समझते हैं। और वे लोग भी जो इसके अस्तित्व को ही नकारते हैं , चाहे ऊपरी मन से शकुन को स्वीकार भले ही न करें। आन्तरिक रूप से तो उसका अस्तित्व

नवरात्रि के दूसरे दिनों में करे ये अचूक उपाय

नवरात्र के द्वितीय दिवस पर एक स्टील के प्लेट मे कुमकुम से स्वस्तिक बनाये और उस प्लेट मे अनार का शुद्ध रस भर दीजिये और वह प्लेट माँ के चरनो मे रखिये साथ मे आरोग्य प्राप्ति की कामना करे     आप चाहे तो किसी

नवरात्र के प्रथम दिवस को करे ये उपाय आपकी सभी मनोकामनाएं अवश्य पूर्ण होंगी

नवरात्र के प्रथम दिवस को  लाल वस्त्र मे अपनी तीन मनोकामना बोलकर तीन  लौंग बांधकर माँ के चरणों  मे समर्पित करें और निम्नलिखित मन्त्र  का १० – १५ मिनिट तक जाप करे। मन्त्र इस प्रकार है :- ॐ ह्रीं कामना सिद्ध्यर्थे स्वाहा”  दूसरे दिन सुबह

भगवान गणेश का वशीकरण सुप्रसिद्ध मंत्र है

भगवान गणेश भी रूप सौन्दर्य के साथ आकर्षण शक्ति बढ़ाने वाले देवता हैं। उनका वशीकरण का सुप्रसिद्ध मंत्र है – ।।ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरदं सर्व जनं मे वशमानाय स्वाहा।। इसका जप किसी शुभ मुहुर्त से आरम्भ करना चाहिए।  गणेश चतुर्थी

अधिक बेचकर अपनी कमाई बढ़ाने के लिए यह चार  कदम आज ही उठायें

यह चार  कदम : –  1 : – अपने प्रोडक्ट और मार्केट के बारे में अधिक से अधिक  जानकारी रखें।और हमेशा अपडेट रहें ताकि मार्केट में आने वाले नए प्रोडक्ट और ऑफर आपको हमेशा पता रहें। यह इसलिए आवश्यक है क्यूँकि अगर आपको अपने प्रोडक्ट और

 जीवन में सफल बनने के कुछ आसान उपाय

 जीवन में सफल बनने की इच्छा सभी को होती है।कौन नहीं चाहता है की उसका जीवन हर तरीके की खुशहाली से भरा हुआ हो। भले ही हर तरीके से खुश रहने का पैमाना पैसा नहीं हो सकता है। लेकिन अगर आप भौतिक सुख की बात करें।